शुक्रवार, 26 फ़रवरी 2010

होली में जलना होता है

यह चिड़िया गाते-गाते
चुप हो जाती है और
मौन में अपनी दुनिया बसाती है

क्या सच सुनाने के लिए भी दुनिया को सुनना पड़ता है

यह चिड़िया उड़ते-उड़ते
खड़ी हो जाती है और
मुझे गोल-गोल घुमाती है

क्या दुनिया नापने के लिए अपने अंदर चलना होता है

यह चिड़िया चुगते-चुगते
मन के सारे दुख चुग जाती है और
पेड़ से अक्सर यह बुदबुदाती है

क्या शैतान परिंदों को भी महसूस अकेलापन होता है

हर बादल बरसने के लिए पैदा नहीं होता
हर बारिश फगुआ सा नहीं भिगोती

होली खेलने के लिए क्या जरूरी होली में जलना होता है

घोंसला लेकर उड़ने वाली
यह चिड़िया मुझसे पूछती है

क्या प्रेम करने के लिए प्रेम में बार-बार जलना होता है

6 टिप्‍पणियां:

RaniVishal ने कहा…

ji sach ti yahi hai ki prem paane ke liye annat prem karana hota hai sundar rachana par badhai!
Holi ki shubhakaamnaae!
http://kavyamanjusha.blogspot.com/

Udan Tashtari ने कहा…

घोंसला लेकर उड़ने वाली
यह चिड़िया मुझसे पूछती है

क्या प्रेम करने के लिए प्रेम में बार-बार जलना होता है...


-क्या बात है, बहुत खूब!

श्यामल सुमन ने कहा…

सुन्दर भाव। सचमुच जलना पड़ता है।

रस कानों में घोलती मीठी कोयल-तान।
उस मिठास के दर्द से प्रायः सब अन्जान।।

होली की शुभकामनाएं।

सादर
श्यामल सुमन
09955373288
www.manoramsuman.blogspot.com

हरकीरत ' हीर' ने कहा…

अच्छा सवाल उठाया है आपने .....चिड़िया के माध्यम से .....!!

Apanatva ने कहा…

ati sunder......
happy holi......

anjana ने कहा…

बहुत अच्छी और सुन्दर भाव से रची ये रचना ।आप का मेरे ब्लांग पर आने व टिप्पणी करने के लिए धन्यवाद । होली का यह मधुर पर्व आप के लिए मंगलमय हो।

मेरे बारे में

mathura, uttar pradesh, India
पेशे से पत्रकार और केपी ज्योतिष में अध्ययन। मोबाइल नंबर है- 09412777909 09548612647 pawannishant@yahoo.com www.live2050.com www.familypandit.com http://yameradarrlautega.blogspot.com
free website hit counter
Provided by the web designers directory.
IndiBlogger - Where Indian Blogs Meet www.blogvani.com blogarama - the blog directory Submit चिट्ठाजगत Hindi Blogs. Com - हिन्दी चिट्ठों की जीवनधारा

मेरी ब्लॉग सूची